बच्चों को मोबाइल से नुकसान | Bacho ko mobile se Nuksan

Pinterest LinkedIn Tumblr +

आज के आधुनिक समय में मोबाइल आम ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा बन चुका है , जिसके बिना रह पाने की कल्पना करना भी बड़ा मुश्किल लगता है। आजकल तो बच्चों की पढ़ाई भी मोबाइल पर होने लगी है ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर बच्चों का स्क्रिन टाइम या मोबाइल का समय कैसे कम करें। आजकल अधिकांश माएं बच्चों के मोबाइल चलाने की आदत से परेशान हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं कि इसका जिम्मेदार कौन है? शायद हम खुद। चलिएं जानें बच्चों को मोबाइल से दूर रखने के आसान उपाय।

बच्चों को मोबाइल के इस्तेमाल को लेकर कुछ मुख्य बिंदु (Main Points regarding the use of mobile to children)

आज के समय में मोबाइल की उपयोगिता – मोबाइल जहाँ हमें अपनों से जोड़े (कनेक्ट) रखता है हम मुश्किल में होने पर सिर्फ एक कॉल से पुलिस या अपनों से सहायता मांग सकते हैं। मोबाइल इंटरटेंमेंट का मुख्य एवं आसान साधन होने के साथ साथ जानकारियों का भी भंडार है। हालांकि इस ज्ञान के भंडार ने किताबों के महत्व
को जरूर कम किया है। मोबाइल या लैपटॉप आदि की जरूरत तो है लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से कई नुकसान भी हो सकती है। आइयें जानें बच्चों पर स्क्रीन टाइम के दुष्प्रभाव

ज्यादा मोबाइल (Mobile)के इस्तेमाल  (Screen time) का बच्चों पर दुष्प्रभाव

1- नींद की कमी

मोबाइल या टीवी स्क्रीन से निकलने वाली रौशनी बच्चों के सोने का रूटीन प्रभावित करती है और उनमें नींद ना आने की बीमारी का कारण बनती है।

2- आक्रामकता

गेम्स, टीवी और मीडिया में कई बार हिंसक चीजें दिखाई जाती हैं जो बच्चे के व्यवहार को आक्रामक कर देते हैं।

3- मोटापा

बहुत देर तक टीवी देखते हुए या गैजेट्स का इस्तेमाल करते हुए बच्चों की शारीरिक गतिविधि नहीं होती और बच्चे मोटापे का शिकार हो जाते हैं।

4- डिजिटल स्मृतिलोप

डिजिटल गैजेट्स से बच्चों की ध्यान केन्द्रित करने की क्षमता बहुत प्रभावित होती हैं। जिससे उन्हें तथ्यों को याद करने और पढ़ाई में दिक्कत आती हैं।

5- भावनात्मक रूप से कमजोर होना

ज्यादा समय गैजेट्स में खोये रहने के कारण बच्चे घर वालों से भावनात्मक तौर पर अलग होने लगते हैं जो कई बार डिप्रेशन या उन्माद का कारण बन जाता हैं।

बच्चों को मोबाइल से दूर रखने के टिप्स (5 Ways To Keep Kids Away From Mobile in Hindi)

1- खुद से करें शुरुआत – बच्चे के पहले गुरु माता -पिता स्वयं होते हैं अक्सर बच्चे जैसा माहौल अपने घर में देखते है वैसी ही छवि उनके मन में बस जाती है। इसलिए जितना हो सके बच्चे के सामने मोबाइल का कम इस्तेमाल करने की कोशिश करें, बच्चों को सिखाएं की मोबाइल का सही इस्तेमाल कितना और कब करना चाहिए।

2-  स्पोर्ट से जुडाव – बच्चों को मोबाइल से दूर रखना है तो उसे फिजिक्ल एक्टिविटी की तरफ मोड़ना जरूरी है। बच्चों को क्रिकेट, फूटबॉल या टेनिस जैसे खेलों को खेलने के प्रति जागरूक बनाएं।

यह भी पढ़ें: टॉप 10 पेरेंटिंग टिप्स – Top Ten Parenting Tips in Hindi

3-  घर में बच्चों को मोबाइल (Mobile) के ज्यादा इस्तेमाल करने के लिए जोर – बच्चों  से  जोर ज़बरदस्ती कभी न करें, बल्कि बच्चे के साथ अधिक से अधिक समय बिताने की कोशिश करें, उनके साथ देश-विदेश तथा सामान्य ज्ञान की नई -नई जानकारियां शेयर करें। इसके साथ-साथ बच्चों के साथ फिजिकल एक्टिविटीज़ जैसे घर में ही कोई खेल ,अंताक्षरी या अन्य गेम्स में भाग लेने की कोशिश करें जिससे बच्चा आपके साथ फ्रैंडली महसूस करें।

4- बच्चों को प्रोत्साहित करें – बच्चों को घर के काम में हाथ बँटाने के लिए प्रोत्साहित करें। इसके अलावा आप बच्चों को कल्चरल प्रोग्राम्स में भी भाग लेने के लिए प्रोत्साहित कर सकतें हैं।

5- प्यार से समझाएं – बच्चों को प्यार से समझाएं कि मोबाइल का जादा उपयोग करना उनके लिए नुकसानदायक है। साथ ही आप एक काम और कर सकते है  बच्चों के शौक के हिसाब से को डांस, म्यूजिक और पेटिंग जैसे कामों को करने के लिए प्रेरित करें, जिससे बच्चों को दो फायदा होगा
1.  बेहतर विकास होगा। 2. मोबाइल के लिए कम से कम समय मिलेगा

अगर आपको यह ब्लॉग अच्छा लगे तो इसे अपने दोस्तों व परिचितों के साथ शेयर करें और कमेंट में अपनी राय (Feedback) जरूर दें। आप की राय Babymomtips.com के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं ताकि हम इसे आप के लिए और बेहतर बना सके।

Thanks to you

माँ हैं,  तो Don’t Worry
BABYMOMTIPS.COM

Share.

About Author

Leave A Reply