6 महीने के बाद शिशु को क्या खिलाएं

Pinterest LinkedIn Tumblr +

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार छह माह तक शिशु को केवल मां का दूध देना चाहिए। छह माह के बाद शिशु को आप अर्द्ध ठोस आहार जैसे खिचड़ी, दलिया या ओट्स आदि दे सकती हैं। हालांकि शुरुआत शिशु को बेहद तरल पदार्थों के साथ करनी चाहिए जैसे मैशड केला, सेब की प्यूरी आदि। अगर आपका भी यह सवाल है कि छह महीने के बाद शिशु को क्या खिलाएं (6 Mahine ke Baad Bachhe ko Kya Khilayen) तो जानिएं दस बेहतरीन विकल्प।

शिशु को देने के लिए 10 प्रारंभिक खाद्य पदार्थ (10 First Foods for Baby in Hindi)

1- चावल, दाल या सब्जियों का सूप 

6 महीने तक एक शिशु मां के दूध पर ही निर्भर करते हैं लेकिन अब आप शिशु को कुछ कुछ ठोस आहार देना शुरु कर सकती हैं जिसकी सबसे पहली शुरुआत सूप से करना बेहतर होता है। सूप पचाने में आसान और पोषण से भरे होते हैं। हां बच्चों के लिए सूप बनाते हुए आपको इसमें नमक या कोई मिर्च आदि नहीं डालना है। 

2- अनाज व अन्य स्टार्च पूर्ण भोजन 

शिशु के 6 महीने के बाद आप उसे साबुत अनाज जैसे चावल, जौ आदि का पानी या प्यूरी की तरह दे सकती हैं। सबसे बेहतर चावल का पानी माना जाता है। 

3- फल 

छह माह के बाद आप फल देना शुरु कर सकती हैं। केला एक ऐसा फल है जो शिशुओं के लिए बेहद फायदेमंद होता है। आप इसकी प्यूरी बनाकर शिशु को देक सकती है। इसके अलावा सेब, पपीता आदि भी बच्चे को दे सकते हैं। बस ध्यान रखें कि फल हमेशा बच्चे को केवल अच्छी तरह से मैश यानि मसल कर दीजिएं। 

4- सब्जियां 

शिशु को आप सब्जियों को उबालकर या उनका सूप बनाकर या उन्हें मैश करके दे सकती हैं गाजर, आलू, कद्दू, शकरकंद इत्यादि शिशु को दे सकती है

5- अंडा

अंडा भी शिशु को छह माह के बाद देना शुरु किया जा सकता है। लेकिन बेहद सावधानी के साथ। अंडा का पीला भाग काफी शुष्क होता है इसलिए इसे हमेशा दाल में मिक्स करके ही दें। आप शिशु को इसका सफेद भाग हर तरह से खिला सकती हैं। अंडा प्रोटीन का अहम स्त्रोत है तो इसे आप शिशु को बिना हिचक के अवश्य दीजिए। 

6- पनीर या टोफू

टोफू व पनीर भी प्रोटीन का एक मुख्य स्रोत होता है जो आपके शिशु के आहार में शामिल किया जा सकता है। आप पनीर को कद्दूकस करके दे सकती हैं। दांत आने के बाद आप शिशु को पनीर के स्लाइस काटकर दे सकती हैं। 

7- पानी

छह माह तक शिशु को पानी पिलाने से भी मना किया जाता है लेकिन इसके बाद आप शिशु को पानी पिला सकती हैं। शिशु को हमेशा उबला हुआ पानी ठंडा करके ही पिलाएं। कभी भी शिशु को बाहर का गंदा पानी ना दें क्योंकि पानी से होने वाली बिमारियां शिशु को जल्दी प्रभावित करती हैं। 

8- दाल का पानी 

दाल प्रोटीन प्रदान करते हैं। दाल पचने में आसान और बच्चों को स्वादिष्ट भी लगती है। शुरुआत में आप शिशु को केवल दाल का पानी दें और इसके बाद यानि आठ महीने के बाद आप दाल को भी मैश करके पानी के साथ दे सकती हैं

9- दलिया 

दलिया आसानी से पचने वाला शिशु आहार है आप उन्हें पतला दलिया बनाकर खिलाएं जिससे उनका पेट भी भरा रहेगा व साफ रहेगा। दलिया के साथ आप शिशु को सूजी का हलवा भी दे सकती हैं लेकिन कम से कम आठ महीने के बाद। छह महीने के बाद आप शिशु को दलिया को पकाकर अच्छी तरह से मैश करके खिलाएं। 

10- फॉर्म्यूला मिल्क या ऊपर का दूध 

छह माह के बाद अगर आपको लगे कि आपके दूध से शिशु का पेट नहीं भर रहा है तो आप पूरक आहार के साथ डॉक्टर की सलाह पर फॉर्म्यूला मिल्क या पैकेट वाला दूध भी शिशु को दे सकती हैं। हालांकि इसे जितना हो सके बचने की कोशिश करें और शिशु को ठोस आहार खिलाने की आदत डालें।

आशा है कि अब आपको इस सवाल का जवाब मिल गया होगा कि 6 महीने के बाद शिशु को क्या खिलाएं (6 Mahine ke Baad Bachhe ko Kya Khilayen) ? साथ ही शुरुआत में हो सकता है कि नई चीज खाते समय शिशु को कोई चीज ना पचे। इससे डरे नहीं यह स्वभाविक चीज है। आप शिशु को कोई भी नई चीज 2 से 3 दिन में एक बार ही खिलाए ताकि आपको यह पता चल सके कि शिशु उसे सही से पचा रहे हैं अथवा नहीं इसे करने से अगर शिशु को किसी खाने से एलर्जी भी है तो भी आपको यह चीज आसानी से पता चल जाएगी

अगर आपको यह ब्लॉग अच्छा लगे तो इसे अपने दोस्तों व परिचितों के साथ शेयर करें और कमेंट में अपनी राय (Feedback) जरूर दें। आप की राय Babymomtips.com के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं ताकि हम इसे आप के लिए और बेहतर बना सके।

Thanks to you

माँ हैं,  तो Don’t Worry
BABYMOMTIPS.COM

Share.

About Author

Leave A Reply